बॉक्स ऑफिस की धान्द्ली

बॉक्स ऑफिस की धान्द्ली

जाने कहाँ गए वो दिन जब जनता को किसी फिल्म के हित या फ्लॉप के बारे में बताने के लिए बॉक्स ऑफिस नंबर्स की ज़रुरत नहीं पड़ती थी, उन दिनों सिनेमा हॉल के आगे लगी लम्बी लम्बी कतारें इस बात की गवाही देती थी की मूवी हिट है या फ्लॉप. आज दौर बिलकुल बदल गया है, अब मल्टीप्लेक्स और मीडिया का ज़माना है,  जनता इन्टरनेट पे बॉक्स ऑफिस क्ल्लेक्स्न्स देखती है जो असलियत से कोसो दूर हैं, बॉक्स ऑफिस नंबर्स ये बताते हैं की फिल्म हिट है या फ्लॉप. लेकिन ये नंबर्स अब ख़रीदे और बेचे जाते हैं, ये एक नया धंदा है जो की जानी मानी वेबसाइट्स चला रही हैं, मतलब अब फिल्म निर्माता के बजट में इजाफा क्योंकि उन्हें कुछ पैसा इन वेबसाइट्स कंपनी को भी देना पड़ता है वेरना ये वेबसाइट्स  उस फिल्म की बॉक्स ऑफिस नंबर्स में ज़बरदस्त तरीके से हेरा फेरी कर उन्हें फ्लॉप बना देंगी, और अगर पैसा पहुँच गया तो भी हेरा फेरी होती है लेकिन उसे हिट बनाने के लिए. कुछ स्टार्स तो वेबसाइट्स को लगातार पैसा भेजते हैं, ताकि वे हमेशा उनकी फिल्म को प्रमोट करें और पूरी कोशिश करें की फिल्म की शुरू से ही सकारात्मक सन्देश जनता तक जाये.

जनता लुभावने इश्तिहार और प्रोमो देख कर फिल्म देखने चली जाती है और बार बार ठगी जाती है, यही कारन है वेल्कोमे, कमबख्त इश्क, ॐ शांति ॐ, हेय बेबी जैसी बेकार फिल्म चल जाती है और जितना चलती है उससे ज्यादा उसे दिखाया जाता है, और संकट सिटी, सॉरी भाई, लुक्क बी चांस जैसी सतारिये फिल्मो को ज्यादा दर्शक नहीं मिलते और अगर चीनी कम जैसी फिल्मो को दर्शक मिलते भी हैं तो उन्हें कम संख्या में दिखाया जाता है एक एजेंडा के तहत.

Courtesy : Amar ujala news


~ by Yakuza on July 22, 2009.

2 Responses to “बॉक्स ऑफिस की धान्द्ली”

  1. How to verify verdict of movie then ???

    • Not even a single reliable source here .. everyone has agenda .. Dikhawo pe na jaayo apni akal lagao …

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s